Thursday, February 22, 2024

बिहार में ज्यादा दिन नहीं चलेगी महागठबंधन सरकार, अधिकारी बने सरकारी गुंडे… चिराग का सीएम नीतीश पर हमला

लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि नीतीश कुमार पाला बदलने में माहिर हैं। बिहार में बनी महागठबंधन की नई सरकार ज्यादा दिन तक चलने वाली नहीं है। राज्य में राष्ट्रपति शासन लगेगा और मध्यावधि चुनाव होंगे।

पालीगंज: लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि बिहार मध्यावधि चुनाव की ओर बढ़ चला है। जल्द ही यहां राष्ट्रपति शासन लगेगा। अतिमहत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में नवगठित महागठबंधन की सरकार विरोधाभासी और अराजक है। इसके चलते सरकार ज्यादा दिन नहीं चलेगी। शुक्रवार को चिराग पासवान पार्टी के वरिष्ठ नेता मोहन चौधरी के छोटे बेटे 20 वर्षीय रौशन की हुई असामयिक मौत के बाद संवेदना प्रकट करने पालीगंज पहुंचे थे। इस बीच सूबे के राजनीतिक हालात पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार अतिमहत्वाकांक्षी व्यक्तित्व के मालिक हैं। उन्होंने स्वयं को पीएम मैटेरियल घोषित कर अपने को महत्वाकांक्षी होने का प्रमाण दे दिया है।

नई महागठबंधन सरकार में अधिकारी भी ‘सरकारी गुंडे’: चिराग
नीतीश कुमार के नेतृत्व में महागठबंधन की सरकार के भविष्य पर भविष्यवाणी करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि बिहार में अराजकता का माहौल है। जब से महागठबंधन की सरकार सत्ता में आई है, हर दिन प्रदेश के किसी न किसी कोने से हत्या, लूट, बलात्कार जैसी घटनाएं सामने आ रही है। यही नहीं, इस सरकार में अधिकारी भी ‘सरकारी गुंडे’ के रूप में उभरकर सामने आने लगे हैं।

जिस तिरंगे को रूस-यूक्रेन ने सम्मान दिया, उसका बिहार में अपमान: चिराग
लोजपा (रामविलास) के अध्यक्ष ने कहा कि आज बिहार में हालात यह है कि नीतीश कुमार के इस शासनकाल में अधिकारी तिरंगे को भी सम्मान नहीं दे रहे हैं। जिस तिरंगे को रूस और यूक्रेन ने सम्मान दिया, उसी तिरंगे को बिहार में अपमानित किया जा रहा है। तिरंगा लेकर हक की मांग कर रहे युवाओं पर लाठियां बरसाई जा रही है। ऐसे में नहीं लगता कि स्वहित के लिए पाला बदलने में माहिर नीतीश कुमार के नेतृत्व में महागठबंधन की यह सरकार अधिक दिनों तक चल पाएगी। मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी, महासचिव संजय पासवान सहित काफी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।

आप की राय

राष्ट्रियपति द्रोपदी मुर्मू को नवनिर्मित संसद भवन में आमंत्रित नहीं करना, सही या गलत ?

Our Visitor

026396
Latest news
Related news