Sunday, April 14, 2024

Jharkhand : हेमंत सोरेन का क्या होगा? राज्यपाल पर टिकी नजर, चुनाव आयोग ने भेजी रिपोर्ट

दिल्ली: हेमंत सोरेन के लिए खनन पट्टा मामला गले की फांस बन गया। बीजेपी ने उन पर खुद को एक खनन पट्टा आवंटित करने का आरोप लगाया है और एक विधायक के रूप में उन्हें अयोग्य ठहराने की मांग की है। सूत्रों ने कहा कि निर्वाचन आयोग ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को भेज दी है। झारखंड के मुख्यमंत्री की टीम ने चुनाव आयोग के सामने इस बात पर जोर दिया था कि चुनाव कानून के वे प्रावधान मामले में लागू नहीं होते, जिनका उल्लंघन करने का आरोप उन पर लगाया गया है। सोरेन की कानूनी टीम ने 12 अगस्त को निर्वाचन आयोग के समक्ष अपनी दलीलें पूरी की थीं, जिसके बाद मामले में याचिकाकर्ता बीजेपी ने जवाब दिया था। दोनों पक्षों ने 18 अगस्त को निर्वाचन आयोग को अपनी लिखित दलीलें सौंपीं थीं।

क्या जाएगी सोरेन की कुर्सी?
सूत्रों ने बताया कि अब निर्वाचन आयोग ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल भेज दी है। जिसमें ऑफिस और प्रॉफिट का मामला बनता है। संविधान के अनुच्छेद 192 के तहत, अगर कोई प्रश्न उठता है कि क्या किसी राज्य के विधानमंडल के सदन का कोई सदस्य किसी अयोग्यता के अधीन हो गया है, तो प्रश्न राज्यपाल को भेजा जाएगा जिसका निर्णय अंतिम होगा। इसके अनुसार ‘इस तरह के किसी भी प्रश्न पर कोई निर्णय देने से पहले, राज्यपाल निर्वाचन आयोग की राय लेते हैं। उसकी राय के अनुसार काम करते हैं।’ सोरेन के वकील ने दलीलें रखे जाने के दौरान कहा था कि मामला लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 9ए के तहत नहीं आता है, जो ‘सरकारी अनुबंधों के लिए अयोग्यता’ से संबंधित है।
AK 47 In Ranchi: आलमारी में सजा रखी थी दो-दो एके 47, रांची में छापेमारी के सीएम सोरेन के करीबी के घर रायफलें देख हिल गए ED के अफसर
क्या होगा हेमंत सोरेन का?
बीजेपी के वकील कुमार हर्ष ने 12 अगस्त को निर्वाचन आयोग की सुनवाई के बाद संवाददाताओं से कहा था, ‘उन्होंने लगभग दो घंटे तक जिरह की। जिसके बाद हमने अपना जवाब दिया और दिखाया कि यह हितों के टकराव का मामला है और उच्चतम न्यायालय के कई फैसले हैं जो इस (मामले) से संबंधित हैं।’ मामले में याचिकाकर्ता के रूप में बीजेपी ने दावा किया था कि सोरेन ने पद पर रहते हुए खुद को एक सरकारी अनुबंध आवंटित करके चुनाव कानून के प्रावधान का उल्लंघन किया है।

Source link

आप की राय

राष्ट्रियपति द्रोपदी मुर्मू को नवनिर्मित संसद भवन में आमंत्रित नहीं करना, सही या गलत ?

Our Visitor

026852
Latest news
Related news