Sunday, April 14, 2024

Hemant Soren Mining Case : झारखंड में सीएम सोरेन की कुर्सी जाने की चर्चा तेज, जेएमएम के सभी विधायक सीएम आवास तलब

रांची: झारखंड में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गयी है। सीएम हेमंत सोरेन के ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में भारत निर्वाचन आयोग की ओर से अपनी रिपोर्ट राजभवन को भेज देने के बाद हलचल बढ़ गयी है। झारखंड मुक्ति मोर्चा के सभी विधायकों को जल्द से जल्द सीएम आवास पहुंचने को कहा गया है। जिसके बाद जेएमएम के वरिष्ठ नेता मिथिलेश ठाकुर समेत कई पार्टी विधायकों का मुख्यमंत्री आवास पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। सीएम हाउस के बाहर हलचल बढ़ गयी है, मीडियाकर्मियों की भी भीड़ लग गयी है। जेएमएम का अगला स्टैंड क्या होगा, पार्टी किस तरह से इन सारी पस्थितियों से निपटेगी, इस पर चर्चा शुरू हो गयी है। बताया गया है कि गठबंधन में सहयोगी कांग्रेस और आरजेडी विधायकों और अन्य वरिष्ठ नेता भी कुछ देर में सीएम आवास पहुंच सकते है।

सरयू राय का बड़ा दावा
निर्दलीय विधायक और पूर्व मंत्री सरयू राय ने ट्वीट कर कहा- भारत के निर्वाचन आयोग ने राज्यपाल को अपनी अनुशंसा भेज दिया गया है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भ्रष्ट आचारण के दोषी पाये गये है। फलतः ये विधायक नहीं रह सकते, इन्हें अगले तीन वर्षाें तक विधायक का चुनाव लड़ने से अयोग्य करार दिया जा सकता है।
Jharkhand : हेमंत सोरेन का क्या होगा? राज्यपाल पर टिकी नजर, चुनाव आयोग ने भेजी रिपोर्ट
‘जाएगी सोरेन की कुर्सी’
सरयू राय ने यह भी दावा किया है कि उन्हें अति विश्वस्त सूत्रों के अनुसार निर्वाचन आयोग ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विधायक पद से अयोग्य करार दिया है। विधायक बनने के लिए अयोग्य घोषित होने की अधिसूचना राजभवन से निकलते ही उन्हें त्यागपत्र देना होगा या माननीय न्यायालय से इस अधिसूचना पर स्थगन आदेश प्राप्त करना होगा।

रिपोर्ट- रवि सिन्हा

Source link

आप की राय

राष्ट्रियपति द्रोपदी मुर्मू को नवनिर्मित संसद भवन में आमंत्रित नहीं करना, सही या गलत ?

Our Visitor

026852
Latest news
Related news