Wednesday, May 29, 2024

Sahibganj News: नाव से पुलिस ने बरामद किया भारी मात्रा में विदेशी शराब की बोतले, एक गिरफ्तार

जब्त शराब की अनुमानित कीमत करीब सात लाख
लोकसभा चुनाव को लेकर पूरे क्षेत्र में पुलिस की पैनी नजर, मिली बड़ी सफलता

साहिबगंज: मुफ्फसिल थाना प्रभारी शशि सिंह ने गुप्त सूचना के आधार पर भारी मात्रा में शराब को जब्त किया। मिली जानकारी के अनुसार मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के रामपुरदियारा में गुप्त सूचना के आधार पर थाना प्रभारी शशि सिंह ने सत्यापन हेतु घटना स्थल पर पहुंच पहुंचने के बाद नाव में सवार कई लोग पुलिस को देखकर भागने लगे वही पुलिस ने भागते-भागते नाव के संचालक सह मालिक दुर्गा सिंह उम्र 45 वर्ष पिता स्वर्गीय देवाराम सिंह को रंगे हाथ पकड़ने पर उन्होंने अपनी संलिप्तता स्वीकार की। वही नाव से भारी मात्रा में विदेशी शराब के 536 पीस  विदेशी शराब की बोतल, जिसका विवरण इस प्रकार है: आईकॉनिक ब्लेंडर प्राईड, रॉयल स्टैग, इंपिरियल ब्लू, रॉयल ग्रीन, हाइब्रिड 5000 का बीयर, केन बोतल 648 पीस बोतल जप्त किया है। जिसकी अनुमानित की मार्केट में 7 लाख की बताई जा रही है। वही आपको बता दे कि पूरे देश में आचार संहिता लागू है और पुलिस चप्पे छपे पर तैनात है, फिर भी स्मगलिंग करने वाले शराब माफिया पुलिस से निडर होकर अपना काम को कर रहे हैं। जिस पर थाना प्रभारी की बड़ी सफलता हाथ लगी है। आपको बता दें की जब्ती में विदेशी शराब 750 एमएल का 536 पीस वही बियर 500 एमएल का 648 पीस, वही जनरेटर लगा हुआ एक बड़ी नाव को भी जप्त किया है। वही नाव के मालिक दुर्गा सिंह को मेडिकल कराने के बाद न्याय की रियासत में जेल भेज दिया गया है। वही छापेमारी दल में शशि सिंह, एएसआई उमाकांत ओझा, आरक्षी 47 वीरेंद्र कुमार सिंह, आरक्षी 20 रमाकांत महतो, उमेश कुमार महतो, शशि भूषण सिंह इत्यादि शामिल थे। इधर इस घटना से शराब माफिया में हड़कंप बना हुआ है।

प्रेस कांफ्रेंस कर दी जानकारी:
वही इस घटना के बारे में मुफस्सिल थाना प्रभारी प्रेस वार्ता कर जानकारी दिया कि पुलिस को गुरुवार को दोपहर 3:00 बजे के आसपास गुप्त सूचना मिला है कि भारी मात्रा में नाव के द्वारा शराब बिहार भेजा जा रहा है जिसकी सत्यापन हेतु 5:00 बजे थाना प्रभारी टीम के साथ पहुंचा पुलिस को देखते ही सभी फरार होने लगे इसके बाद पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर आरोपी को गिरफ्तार किया

आप की राय

राष्ट्रियपति द्रोपदी मुर्मू को नवनिर्मित संसद भवन में आमंत्रित नहीं करना, सही या गलत ?

Our Visitor

027300
Latest news
Related news