Sunday, April 14, 2024

Sahibganj: क्वाटर में घुस कर रेल स्टाफ की गोली मार कर अपराधियों की कर दी हत्या, जांच में जुटी पुलिस

साहिबगंज: जिले में लगातार अपराधियों का मनोबल बढ़ता ही जा रहा है। जिसका नजारा बीती रात को देखने को मिला, जहां नगर थाना से करीब 50 मीटर की दूरी पर स्थित रेलवे क्वाटर 314बी में रहने वाले एक चतुर्थीय वर्गीय रेलवे स्टाफ राजकुमार चंदन की क्वाटर में घुसकर अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी गई। वहीं गोलीकांड के बाद अपराधी भागने में सफल रहे।

घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस:-

वहीं घटना की सूचना मिलते ही नगर थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता अपने दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। वहीं पुलिस ने रेलवे स्टाफ के शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। वहीं मौके पर मौजूद मृतक राजकुमार चंदन की पत्नी रिंकू देवी ने पुलिस को बताया कि हम सभी खाना खाकर हमलोग अलग अलग रूम में सोने के लिए चले गए थे। वहीं सोमवार और मंगलवार की मध्यरात्रि करीब 1:30 से दो बजे के आसपास अज्ञात अपराधियों ने क्वाटर का दरवाजा खोलकर घर में घुसकर मेरे पति को गोली मारकर भाग गए। वहीं गोली की आवाज सुनने के बाद उठी तो देखा कि मेरे पति जमीन पर गिरे पड़े है। और सिर से पूरा खून निकल रहा था, और बरामदे में खून पसरा हुआ था।

वहीं घटना की सूचना आस परोस को दी गई, जिसके बाद नगर थाना पुलिस घटना स्थल पर पहुंची, और जांच में जुट गई। वहीं पत्नी ने बताया कि मेरे पति का किसी के साथ कोई झगड़ा लड़ाई नहीं था। कुछ दिन पहले क्वाटर के पीछे शराब पीने वाले कुछ शराबियो से बहस हुई थी। मेरे पति को क्यों गोली मारकर हत्या कर दी गई, इसकी जानकारी मुझे नहीं है।

बिहार के बांका जिला के रहने वाले थे राजकुमार चंदन:–

बताया कि साहिबगंज में वर्ष 2016 में रेलवे में पोस्टिंग हुई थी। मृतक राज कुमार चंदन मूल रूप से बिहार के बांका जिला के बोंसी नया टोला का रहने वाला था। साहिबगंज में वह IOW रेलवे विभाग के चतुर्थीय वर्गीय कर्मी के रूप में कार्यरत थे और रेलवे क्वार्टर में रह रहे थे। मृतक अपने पीछे पत्नी रिंकू देवी और दो बच्चे है, जिनका नाम रिसव राज (ढाई वर्ष) और सॉर्य सारंस उर्फ मिट्ठू (4 वर्ष) को पीछे छोड़ गए। छह साल पहले भागलपुर में शादी हुई थी।

 

एसपी ने क्या कहा:–

वहीं इस मामले को लेकर एसपी कुमार गौरव ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है, रेल कर्मी के हत्या के पीछे जिन भी लोगों का हाथ है, उस पर कड़ी कारवाई की जाएगी। मामले के उद्भेदन को लेकर टीम का गठन किया गया है।

आप की राय

राष्ट्रियपति द्रोपदी मुर्मू को नवनिर्मित संसद भवन में आमंत्रित नहीं करना, सही या गलत ?

Our Visitor

026852
Latest news
Related news